विद्यालय में संबोधन कैसे किया जाता है,आशु भाषण प्रतियोगिता क्या होती है

नमस्कार मैं शुभम तिवारी कच्चा बीएफ एकांकी की जिम्मेदारी मुझे दी गई है। इसमें जो भी छोटी बड़ी गलतियां हो उसे आप ध्यान देते हुए क्षमा करिएगा। सबसे पहले यहां उपस्थित विशिष्ट जन प्राचार्य महोदय गुरुजन बिन तथा प्यारे सहपाठियों का इस कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए आभार प्रकट करता हूं। और उनको स्वागत एवं अभिनंदन करता हूं।

संबोधन कैसे करें

आज हम सभी इस संस्था के संस्थापक स्वर्गीय श्री राजेंद्र सिंह के पुण्यतिथि तथा  विद्यालय स्थापना दिवस के उपलक्ष में यहां पर उपस्थित हुए हैं। जी के चित्र पर पूजन अर्पण कर कार्यक्रम की शुरुआत करें। पुणे में आप सब को हृदय से धन्यवाद करता हूं। अब मैं कार्यक्रम की शुरुआत जैसे कि किसी भी कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती मां की वंदना से होती है। इसीलिए सरस्वती वंदना के लिए मैं आमंत्रित करूंगा राहुल सिंह को कि वह मंच पर आमंत्रित करता हूं कि वह आए और अपनी मधुर आवाज से सरस्वती मां वंदना का कार्यक्रम की शुरुआत करें।

जननायक विश्वविद्यालय सर प्र

तियोगिता में इस सभा को संचालित करने वाले सभापति महोदय जी परम आदरणीय प्राचार्य महोदय जी यहां पर उपस्थित मुख्य अतिथि महामहिम कुलपति महोदय जी हम लोगों को मार्गदर्शन करने वाले परम आदरणीय गुरु जनविद जी तथा सम्मानित हमारे सहपाठी भाइयों एवं बहनों

हर विकट परिस्थितियों को प्रेरणा स्रोत हमारे विद्यालय बाबा रामदल सूरजदेव स्मारक पीजी कॉलेज पकवा इनार से चलकर आए। हुए परम आदरणीय अब्दुल रब सिद्दीकी जी और मेरे प्यारे सहपाठियों आप सभी लोगों का मैं शुभम तिवारी के नमन करता हूं  और भगवान से प्रार्थना करता

हूं कि आपका जीवन सुख में और सरल व्यतीत हो।

आदरणीय प्रधानाचार्य महोदय और हमारे अतिथि गण हमारे टीचर अध्यापिका एवं मेरे प्यारे साथियों आज मुझे जिस टॉपिक पर बोलने का अवसर मिला वह बहुत ही अच्छा टॉपिक है। जिसको मैं अपने माध्यम से बताऊंगा कि आप कैसे आशुभाषण प्रतियोगिता में सम्मिलित हो सकते हैं आशु भाषण प्रतियोगिता क्या है।

आशु भाषण प्रतियोगिता क्या

अगर आप भी जानना चाहते हैं। कि

आशु भाषण प्रतियोगिता क्या होता है। और हम लोग कैसे उस में भाग ले सकते हैं। किसी भी विद्यालय कॉलेज में अगर आपको आशु भाषण की प्रतियोगिता करनी हो तो आप हमारे इस बताए हुए कार्यों को आपको सफलता हासिल जरूर होगी जैसे की हम सभी जानते हैं कि आशु भाषण का मतलब होता है कि तुरंत कोई भी भाषण स्टेज पर चलने के बाद आपको टॉपिक मिलता है। आपको उसी माध्यम से बोलना पड़ता है अगर आप नहीं बोल पाते हैं तो आप पुरस्कार से वंचित हो जाते हैं। आपको मैं बता दूं कि आशु भाषण प्रतियोगिता में कुछ बातों का ध्यान देना बहुत जरूरी है।

जैसे कि मंच पर खड़े होकर संबोधन कैसे करना है और अपने विचारों को कैसे वक्त व्यक्त करना है जब आप यहां तक सम्मिलित हो जाए तो आपको बहुत ही अच्छा पुरस्कार मिलेगा और लोग आपको जानने का उतावले होंगे कि आप आशु भाषण की प्रतियोगिता कैसे आप कर सके। कुछ शब्दों में मैं आशु भाषण के बारे में बताने जा रहा हूं जिस समय कोई भी परिस्थिति चल रही है जैसे किसान का मुद्दा हो या कोई चुनावी हो या आपको विवेकानंद जी हो उनके बारे में भी आपको पूछा जा सकता है

कुछ टॉपिक

मैं आप लोगों को कुछ टॉपिक को बताऊंगा जिसको आप लोग तैयार कर लेंगे तो मैं हंड्रेड परसेंट शेयरों की आशु भाषण की प्रतियोगिता में आप बहुत ही अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे और अपना स्थान प्राप्त कर पाएंगे जब आप आशु भाषण की प्रतियोगिता कर लेंगे तो आपको यह पता चलेगा कि आप जो भी कार्य कर रहे हैं बहुत ही सरल और सहज तरीके से कर रहे। अगर आपको भी हमारे इस बताए हुए आर्टिकल से कुछ जानकारी इस आर्टिकल को लोगों तक जरूर शेयर करें ताकि उनको भी यह जानकारी प्राप्त हो सके।

हम लोग अपने विद्यालय में कैसे  संबोधन करते हैं और आशु भाषण प्रतियोगिता क्या होता है उसके बारे में भी मैंने आपको गहराई से बताया जो आपको जानना बहुत ही जरूरी था आपको मैंने बता दिया।

Leave a Comment